Bounce Rate kya hai ? Bounce rate kaise kum kare ?

हेलो गाइस कैसे हो आप सभी भी ? Vrtechy.com के एक और फ्रेश पोस्ट में आपका बहुत-बहुत स्वागत है और आज के इस पोस्ट में हम यह जानेंगे कि Bounce rate kya hota hai ? और साथ-साथ, अगर आपका Bounce rate high है तो Bounce rate kam karne ke tarike भी जानेंगे।

सो गाइस अगर आपको भी यह नहीं पता है कि Bounce Rate क्या होता है ? और Bounce Rate कम करने के क्या-क्या तरीके हैं ? तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें और मुझे उम्मीद है कि इस पोस्ट को पूरा पढ़ने बाद बाउंस रहते को लेकर आपके मन में से सारे डाउटस जरूर क्लियर हो जाएंगे।

Also read: 10 Seo Tips & Tricks in Hindi website ko rank karne ke liye

Guy's जब्बी भी बात आती है वेबसाइट की analytics को लेकर तो हमें सब कुछ ज्यादा ज्यादा देखना बहुत ही अच्छा लगता है जैसे ज्यादा पेज व्यू, ज्यादा विजिटर्स, ज्यादा टाइम जोकि विजिटर्स आपके website पर बिताते ही। लेकिन एक चीज ऐसी है जिसका हमारी वेबसाइट के analytics में ज्यादा होना अच्छी बात नहीं है जो कि है Bounce Rate.

तो आखिर यह Bounce Rate kya hai ? और इसका हमारे वेबसाइट पर कितना परसेंट होना अच्छा है और अगर आपका Bounce Rate ज्यादा है तो उसे कम कैसे करें इन्ही कुछ विषय पर आज हम बात करेंगे तोह प्लीज़ आप इस पोस्ट के साथ बने रहे और चलिए जानते है आजके टॉपिक के बारे में।

Bounce rate kya hai ?


Bounce rate kya hota hai ?

Bounce rate web analytics का एक ऐसा प्रकार है जो कि आपके वेबसाइट पर या फिर आपकी वेबसाइट पर किसी भी एक पार्टिकुलर पेज पर विजिटर्स का behaviour कैसा है वह measure करता है।

Bounce rate का कंसेप्ट समझना बहुत ही आसान है अगर हम तुलना करें किसी और वेब एनालिटिक्स कंसेप्ट से।

जब आप बाउंस रेट का सही कंसेप्ट समझ जाएंगे तब आपके माइंड में यह क्वेश्चन जरूर आएगा कि "मेरे वेबसाइट का बाउंस रेट इतना हाई क्यों है ?" और सबसे important कि आप अपने वेबसाइट का Bounce rate kam kaise kare ?

Bounce Rate kam kaise kare ?


Bounce rate kaise kam karte hai

ऐसे बहुत सारे आसान methods से जिनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट का बाउंस रेट कम कर सकते हैं जैसे अपनी ही वेबसाइट पर यह चेक करना कि कौन सा पेज या फिर पोस्ट ज्यादा अच्छा परफॉर्म कर रहा हो और उन्हीं  पेजेस/पोस्ट्स का कुछ आईडिया ऐसे पोस्ट या फिर पेजेस में यूज करना जिनका Bounce rate बहुत ही ज्यादा हो।

और ऐसे कुछ छोटे टिप्स में आपको नीचे वन बाय वन करके बता देता हूं जिनको यूज करके आप अपने website का bounce rate घटा पाएंगे।

1) अपने content में सुधार करें

ऐसे बहुत सारे तरीके हैं जिनकी मदद से आप अपने किसी पेजेस का या फिर अपने पूरे वेबसाइट का  Bounce rate घटा सकते हैं और उनमें से एक यह है कि आप अपने website ka content सुधारना।

कहने का मतलब यह है कि आप जैसा भी पोस्ट लिखते हो चाहे वह छोटा हो या बड़ा लेकिन आप ऐसा पोस्ट लिखे की कोई भी पड़े तो उन्हें ऐसा लगे कि इसमें उन्हें ज्यादा से ज्यादा इंफॉर्मेशन मिल रहा है और वह ऊंह इंफॉर्मेशन को पाने के लिए आपकी site पर ज्यादा से ज्यादा समय तक बना रहे ओर आपके दुसरे पोस्ट्स भी पढ़ने के लिए मजबूर हो जाए।

ऐसा ना हो कि आपका वेबसाइट टेक्नोलॉजी के रिलेटेड हैं एंड आप कार्टून मूवीस के रिलेटेड पोस्ट लिखते हो तो कोई भी विजिटर आपकी वेबसाइट पर आएगा लेकिन वह दूसरे पोस्ट्स को चैक नहीं करेगा ओर वह तुरंत वापस भी लौट जाएगा जिससे आपके website ka Bounce बढ़ेगा।

2) पठनीयता (readability)

अगर आपको readability का मतलब नहीं पता है तो मैं आपको थोड़ा यह बता देता हूं इसका मतलब यह है कि ऐसा पोस्ट लिखना जो कि आसानी से पढ़ा जा सके बिना किसी Grammatical मिस्टेक्स के।

ऐसा ना हो कि आप बहुत ही अच्छा पोस्ट लिखे उसमें ज्यादा से ज्यादा इंफॉर्मेशन दें लेकीन इस बात इस बात का ध्यान रखें कि आप ऐसा पोस्ट लिखे कि कोई भी यूजेस उसे आसानी से पढ़ सके।

पोस्ट लिखते समय इस बात का ध्यान दे कि आप ऐसे आर्टिकल लिखे जो एकदम सिंपल हो उसमें ज्यादा ग्रामर मिस्टेक ना हो और इस बात का भी ध्यान रखे की पोस्ट मै आप ऐसे वर्ड्स यूज करें जोकि किसी भी यूजर को आसानी से समझ मै आजाए।

अगर guys आपका वेबसाइट wordpress पर है तो आपने Yoast seo में readability नामका सेक्शन जरूर देखा होगा।

3) Pop-up windows यूज ना करे

Guy's अगर आपको पॉपअप विंडो क्या है यह नहीं पता है ? या फिर इसके बारे में आपको कुछ भी आईडिया नहीं है तो आप नीचे इमेज में बिल्कुल क्लियर देख सकते हैं कि pop-up window क्या होता है ?


Pop-up windows


यह ऐसे विंडो होते हैं जो कि आपके बिना परमिशन के ही आपके ब्राउज़र में ऑटोमेटेकली नए टैब्स खोल देते हैं। Pop-up window का इस्तेमाल आजकल लोग अपने website/blog में किसी यूज़र का ई-मेल एड्रेस प्राप्त करने के लिए करते है। जोकि एक हद तक अच्छा होता है।

लेकिन अगर आपके website मै कुछ ऐसे pop-up windows hai जिसमें यूजर का e-mail प्राप्त करने के बदले कुछ ओर ही होता है जैसे ads, todays deals, todays offers, वगैरे वगैरे तो आप उन्हें रिमूव कर दे। 

क्योंकि वह पॉपअप विंडो जिसमें लोगों का ईमेल एड्रेस लिया जाता है उसे यूज़ करना एक हद तक सही है इसलिए, क्युकी वह आपको हर वेबसाइट पर देखने को मिल जाएगा और इससे आपका वेबसाइट थोड़ा प्रोफेशनल भी लगता है।

लेकिन अगर आप ऐसे pop-up windows यूज करते हैं जिसमें सिर्फ एड्स आते हैं और जो कि लोगों को पसंद भी नहीं आता तो ऐसे में लोग आपकी वेबसाइट पर कभी आना पसंद नहीं करेंगे जिससे आपका Bounce Rate बढ़ेगा तोह ऐसे मै यही अच्छा है की ऐसे फालतू popup windows ना यूज किया जाए।

4) कम quantity मै ads यूज करें

या बहुत मामूली सी बात है खासकर के content based sites पर कि, हम उन वेबसाइट पर तरह-तरह के एड्स लगा देते हैं। क्योंकि ज्यादातर ऐसे वेबसाइट्स के लिए एड्स ही एक अच्छा source of income माना जाता हैं।

लेकिन एक ऐसा आर्टिकल या फिर एक ऎसा पैज जिसमें ज्यादा ऐड्स हो उन पर जितने भी विजिटर्स आते हैं उनका एक्सपीरियंस अच्छा नहीं होता और वह बिना कुछ ज्यादा किए हुए ही उस पेज या आर्टिकल को छोड़ कर चले जाते हैं जो कि सीधा आपके Bounce Rate असर डालता है।

सो गाइस अगर आपकी वेबसाइट पर भी लिमिट से ज्यादा ads है तो आप उन्हें रिमूव कर दे ताकि आपकी वेबसाइट पर यूजर्स का एक्सपीरियंस अच्छा हो खास करके यह ध्यान रखें कि आपके वेबसाइट पर कोई भी पॉप अप वाले ads ना ही।

5) अपने website ka speed बढ़ाए

किसी भी यूजर का यह expectation रहता है कि कोई भी web page 2 सेकेंड के अंदर फुल्ली हो जाए। 3 सेकंड होते ही कोई भी यूजर आपके वेबसाइट से चला जाएगा, और वह इसका वेट नहीं करेगा कि आपका वेबसाइट लोड हो।

जितना ज्यादा आपकी website को लोड होने में टाइम लगेगा उतना ज्यादा ही आपका Bounce Rate बढ़ेगा।
और गूगल का भी यह मानना है कि, किसी भी वेबसाइट की रैंकिंग बिगड़ते चली जाएगी अगर वह website लगातार लोड होने में ज्यादा समय ले रहा जिसका सिर्फ एक ही मतलब है आप का bounce rate बढ़ेगा।

यहां पर बहुत सारे ऐसे तरीके हैं जिन्हें आप यूज करके अपनी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड बढ़ा सकते हैं।

वेबसाइट की स्पीड को लेकर मैंने ऑलरेडी एक आर्टिकल लिख रखा है जिसमें मैंने आपको यह बताया है कि अब साइड की स्पीड को कैसे बढ़ाते हैं तो make sure कि आप उस article ko एक बार जरूर पढ़े मैं उसका लिंग आपको नीचे दे दूंगा।

Also read: Website ko optimize kaise kare ?

कोशिश यह करें कि आपकी वेबसाइट की मिनिमम स्पीड 3 सेकंड तक आ जाए और उन्हीं 3 सेकेंड के अंदर ही आपकी वेबसाइट की हर content लोड हो जाए ऐसा ना हो कि आपकी वेबसाइट की स्पीड काफी ज्यादा बढ़ जाए और यूजर को ऐसा लगे कि इस website पर से मेरा वापस लौट जाना ही अच्छा होगा वैसे मैं आपका Bounce Rate ही बढ़ेगा।
Bounce Rate kya hai ? Bounce rate kaise kum kare ? Bounce Rate kya hai ? Bounce rate kaise kum kare ? Reviewed by Vrtechy on November 24, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.